Female Sexual Dysfunction: Causes, Diagnosis, Treatment महिलाओं के गुप्त रोग, मासिक-धर्म समस्याएं व समाधान

0
124

महिलाओं के गुप्त रोग, महिलाओं में यौन समस्याएं आम समस्याएं हैं। एक अनुमान है कि युवा और मध्यम आयु वर्ग की लगभग एक-तिहाई महिलाओं और अधिक उम्र की आधी से ज्यादा महिलाओं को यौन समस्याएं प्रभावित करती हैं।

  1. महिलाओं की यौन समस्याएं – Types of sexual dysfunction in Hindi
  2. महिलाओं की यौन समस्याओं के कारण – Causes of Female Sexual Problems in Hindi
  3. महिलाओं की यौन समस्याओं का निदान – Diagnosis of Female Sexual Problems in Hindi
  4. महिला यौन समस्याओं के इलाज के तरीके – Female Sexual Dysfunction Treatment in Hindi
  5. महिला यौन समस्याओं की घर पर स्वयं – देखभाल
  6. महिलाओं की यौन समस्याओं की रोकथाम – Prevention of Female Sexual Problems in Hind
bladder-problems-in-womenbladder-problems-in-women
  1. महिलाओं की यौन समस्याएं / Types of sexual dysfunction in Hindi:

मासिक-धर्म समस्याएं व समाधान

महिलाओं की यौन समस्याओं के निम्नलिखित मुख्य प्रकार हैं:
क- यौन इच्छा या उत्तेजना का अभाव:- यौन इच्छा या सेक्स ड्राइव की कमी अक्सर कामेच्छा के अभाव के रूप में वर्णित की जाती है और कई महिलाएं विभिन्न प्रकार के लक्षणों का अनुभव कर सकती हैं। यौन उत्तेजना की कमी का परिणाम योनि में लुब्रिकेशन की कमी, संबंधों में चिंता या ख़राब स्वास्थ्य के रूप में सामने आ सकता है।

यौन इच्छा की कमी और यौन उत्तेजना की कमी अक्सर एक साथ होते हैं। एक का इलाज अक्सर दूसरे में सुधार करता है। यह महत्वपूर्ण है कि आप अपने चिकित्सक को उन सभी लक्षणों का ब्यौरा दे जिनको आप महसूस करते हैं, क्योंकि इलाज के लिए विभिन्न प्रकार के उपचार उपलब्ध हैं।

Sexual-Problems
Female Sexual-Problems

ख- चरमसुख (ओर्गास्म) प्राप्त करने में समस्याएं:- इसमें कभी भी चरम-सुख (ओर्गास्म) न प्राप्त करना, ओर्गास्म में विलम्ब या ओर्गास्म की अनियमितता और ओर्गास्म संवेदनाओं की ताकत में कमी को शामिल किया जाता है। हालाँकि, कुछ महिलाओं को सेक्स का आनंद लेने के लिए ओर्गास्म प्राप्त करने की ज़रूरत नहीं होती है लेकिन कुछ महिलाओं और उनके यौन साथी के लिए यह समस्या हो सकती है।

TreatmentofSexualproblem
TreatmentofSexualproblem

ग- सेक्स के दौरान या बाद में दर्द:- कुछ महिलाओं को सेक्स के दौरान दर्द का अनुभव हो सकता है यह योनि में लुब्रिकेशन की कमी के कारण और प्रवेश से पहले अपर्याप्त फोरप्ले के कारण हो सकता है। यह एक समस्या बन सकती है और एक महिला यौन अंतरंग होने या सेक्स का मजा लेना मजबूरन बंद सकती है।

freepressjournal_2020-07_9c33f1fc-c123-4dab-b1e1-673a877a2dac_wellness_anchor_holding

महिलाओं की यौन समस्याओं के कारण / Causes of Female Sexual Problems in Hindi:

इंसानों में यौन समस्याओं के कारण बहुत ही विविधताए और जटिलताएं हैं। कुछ समस्याएं एक साधारण, प्रतिवर्ती शारीरिक समस्या से जुड़ी हुई होती हैं वहीं कुछ समस्याएं अधिक गंभीर चिकित्सा स्थितियों, जीवन की मुश्किलों या भावनात्मक समस्याओं के कारण हो सकती हैं।

woman-holding-her-chest-with-a-possible-heart-attack
woman-holding-her-chest-with-a-possible-heart-attack

कई प्रकार की शारीरिक या चिकित्सकीय स्थितियां महिला के यौन जीवन में संतुष्टि को कम कर सकती हैं। ऐसी कुछ समस्याएं निम्नलिखित हैं:-

  1. थकान
  2. गंभीर बीमारियां जैसे मधुमेह, हृदय रोग, यकृत रोग, किडनी रोग
  3. कैंसर
  4. तंत्रिका संबंधी विकार
  5. संवहनी (रक्त प्रवाह) विकार
  6. हार्मोनल असंतुलन
  7. रजोनिवृत्ति
  8. गर्भावस्था
  9. शराब या नशीली दवाओं का दुरुपयोग
    Women-MUST-READ
    Women-MUST-READ

    यौन समस्या का मूल्यांकन एक व्यापक चिकित्सा साक्षात्कार के साथ शुरू होता है। अपने डॉक्टर को किसी भी प्रकार की मेडिकल या मानसिक बीमारी, हाल ही में या पहले कभी हुई सर्जरी और कोई भी दवाई जैसे ओवर-द-काउंटर ड्रग्स, जड़ी-बूटियां या सप्प्लिमेंट्स ले रहे हैं, तो इसके बारे में बताएं।

    महिलाओं की यौन समस्याओं का निदान / Diagnosis of Female Sexual Problems in Hindi:

    यौन समस्या का मूल्यांकन एक व्यापक चिकित्सा साक्षात्कार के साथ शुरू होता है। अपने डॉक्टर को किसी भी प्रकार की मेडिकल या मानसिक बीमारी, हाल ही में या पहले कभी हुई सर्जरी और कोई भी दवाई जैसे ओवर-द-काउंटर ड्रग्स, जड़ी-बूटियां या सप्प्लिमेंट्स ले रहे हैं, तो इसके बारे में बताएं।

cs-menopause-vaginal-dryness-722x406
cs-menopause-vaginal-dryness

एक पूर्ण शारीरिक परिक्षण भी किया जायेगा। आपकी समस्या के प्रकार को ध्यान में रखते हुए, आपका डॉक्टर पेल्विक परिक्षण को शामिल कर सकता है या परिक्षण के इस भाग के लिए आपको एक स्त्री रोग विशेषज्ञ के पास भेज सकता है। कुछ अन्य प्रकार की समस्याओं के लिए, अन्य विशेषज्ञों के साथ परामर्श की आवश्यकता हो सकती है।

freepressjournal_2020-10_13886177-ca1f-46e8-bafc-9a79ed08ba6a_wellness_anchor_holding_oct_4
freepressjourna

ज्यादातर मामलों में प्रयोगशाला परीक्षणों की ज़रूरत नहीं होती है, हालांकि आपके डॉक्टर कुछ स्थितियों को खारिज करने के लिए परीक्षण का अनुरोध किया जा सकता हैं। आपके हार्मोन के स्तरों की जांच के लिए ब्लड टेस्ट कर सकते हैं। एक्सरे और अन्य रेडियोलॉजी परीक्षण केवल असामान्य परिस्थितियों में आवश्यक होते हैं।

महिलाओं की कुछ यौन समस्याओं को घरेलू उपचार से भी ठीक किया जा सकता है।

4. महिला यौन समस्याओं के इलाज के तरीके / Female Sexual Dysfunction Treatment in Hindi:

समस्या के प्रकार के आधार पर यौन समस्याओं का उपचार अलग-अलग होता है। कभी-कभी किसी उपचार की आवश्यकता नहीं होती है।

a-sanitary-napkin-with-period-blood-smell
a-sanitary-napkin-with-period-blood-smell

यदि यौन समस्या किसी मेडिकल या शारीरिक समस्या के कारण होती है, तो आपका डॉक्टर या परामर्श विशेषज्ञ उचित उपचार योजना का सुझाव देगा। यह निश्चित रूप से समस्या की प्रकृति के आधार पर भिन्न होगा।

इस योजना में दवा, जीवन शैली में बदलाव या शल्य चिकित्सा शामिल हो सकती है। आपका डॉक्टर काउन्सलिंग करवाने की सलाह भी दे सकता है भले ही समस्या शारीरिक हो।

ड्रग ट्रीटमेंट्स:- महिलाओं की सेक्स समस्याओं के उपचार के लिए दवाएं भी मिलती हैं। अपने डॉक्टर की सलाह के अनुसार मार्केट में उपलब्ध दवाओं का उपयोग किया जा सकता हैं। मधुमेह या अवसाद जैसी समस्याओं का इलाज करने से भी यौन समस्याओं में राहत मिल सकती है।

a-woman-taking-something-off-a-shelve-in-a-pharmacy
a-woman-taking-something-off-a-shelve-in-a-pharmacy

सेक्स थेरेपी:- इस थेरेपी में एक व्यक्ति या दंपति अपने यौन या रिश्ते की समस्याओं का आकलन और उपचार करने के लिए एक अनुभवी चिकित्सक के साथ काम करते हैं। साथ में वे उन कारकों की पहचान करते हैं, जो समस्या को गति प्रदान कर रहें हैं।

इन कारकों के प्रभाव को हल करने या कम करने के लिए एक विशिष्ट उपचार कार्यक्रम तैयार करते हैं। सेक्स थेरेपी का उपचार के अन्य रूपों के साथ संयोजन में भी इस्तेमाल किया जा सकता है।

1800ss_webmd_rf_endometriosis_illustration
webmd_rf_endometriosis_illustration

योनि लुब्रिकेंट्स और मॉइस्चराइजर्स:- योनि का सूखापन एक समस्या है, तो यह लुब्रिकेंट्स और मॉइस्चराइजर्स के प्रयोग से बेहतर हो सकती है। यौन संभोग के समय योनि लुब्रीकेंट का उपयोग किया जाता है।

कई प्रकार के लुब्रिकेन्ट मार्केट मे उपलब्ध हैं जैसे- तेल आधारित, पानी आधारित, सिलिकॉन आधारित इत्यादी। अपने डॉक्टर के परामर्श के अनुसार या जो आपके लिए उचित हो ऐसे लुब्रीकेंट का उपयोग कर सकते हैं।

योनि मॉइस्चराइजर योनि में नमी बनाए रखने में मदद करते हैं। इनको नियमित रूप से और सेक्स से कम से कम 2 घंटे पहले उपयोग किया जा सकता है। वे ओवर-द-काउंटर या प्रेस्क्रिप्शन पर उपलब्ध हैं। कृपया अधिक जानकारी के लिए अपने चिकित्सक से परामर्श करें।

एस्ट्रोजेन:- एस्ट्रोजेन का स्तर रजोनिवृत्ति के बाद और मस्तिष्क में पिट्यूटरी ग्रंथि के आघात के बाद गिरता है (आमतौर पर सिर की चोट, अवजालतनिका (सुबरचनोइड) रक्तस्त्राव या सिर पर विकिरण के कारण)।

एस्ट्रोजेन प्रतिस्थापन या तो व्यवस्थित रूप से पूरे शरीर में स्तर बढ़ाने के लिए या योनि में केवल इस क्षेत्र में स्तर बढ़ाने के लिए दिया जा सकता है।

टेस्टोस्टेरोन:- महिलाओं में, टेस्टोस्टेरोन अंडाशय और अधिवृक्क ग्रंथियों में स्वाभाविक रूप से पैदा होता है, और यह महिला यौन फंक्शन से जुड़ा हुआ है। यौन इच्छाओं में कमी टेस्टोस्टेरोन के स्तरों में गिरावट के साथ जुड़ी हो सकती है। जब एक महिला के अंडाशय को शल्यचिकित्सा (ऊ-फॉरेक्टमी) से हटा दिया जाता है, तो टेस्टोस्टेरोन का स्तर अचानक गिरता है।

Tibolone (Livial®):- ये अक्सर हार्मोन रिप्लेसमेंट थेरेपी (HRT) के एक प्रकार के रूप में वर्गीकृत किया जाता है। यह मानव-निर्मित स्टेरॉइड है जिसमें महिला हार्मोन एस्ट्रोजेन और प्रोजेस्टेरोन के साथ-साथ टेस्टोस्टेरोन भी हैं।

यह गर्म फ़्लशेस जैसे रजोनिवृत्ति के लक्षणों में सुधार कर सकता है और कामेच्छा (‘सेक्स ड्राइव’) की कमी में सुधार कर सकता है।

cystitis
cystitis

मनोचिकित्सा:- यदि समस्या ज्ञान की कमी के कारण है, तो आपके डॉक्टर या सेक्स चिकित्सक आपको यौन प्रतिक्रिया चक्र और यौन उत्तेजना के तत्वों के बारे में (और आपके साथी को) सिखा सकते हैं।

इस नए ज्ञान के साथ, कई जोड़ों को अपने आप आगे बढ़ने में मदद मिलती हैं। मनोचिकित्सा एक महिला को उसके जीवन में यौन समस्याओं की पहचान करने में सहायता कर सकती है।

premenstrual-syndrome-pms-s1-photo-of-woman-and-calendar
premenstrual-syndrome-pms-s1-photo-of-woman-and-calendar

5. महिला यौन समस्याओं की घर पर स्वयं देखभाल:

सभी यौन समस्याओं के लिए उपचार की आवश्यकता नहीं है कुछ समस्याओं को आप और आपके साथी द्वारा अकेले खुलेपन और रचनात्मकता के साथ हल किया जा सकता है। कुछ समस्याएं समय के साथ खुद दूर चली जाती हैं – आपको बस धैर्य और समझने की आवश्यकता है।

 

कभी-कभी आपके साथी के साथ समस्या की चर्चा करना ही पर्याप्त होता है। जो महिलाएं अपने पार्टनर को अपनी यौन जरूरतों के बारे में बताना सीख जाती हैं, उन्हें एक संतोषजनक यौन जीवन जीने का बेहतर मौका मिलता है।

समाधान को मज़ेदार बनाने का प्रयास करें – अपने यौन दिनचर्या में थोड़ा रोमांस और उत्तेजना लाने के तरीके सोचें। कुछ तरीके जो यौन समस्याओं पर काबू पाने में महिलाओं की मदद कर सकते हैं:-

having-issues-down-there-royalty-free-image-1041085098-1550763461

  1. बच्चे और अन्य विकर्षण के बिना अपने साथी के साथ अकेले रहने के लिए अलग-अलग समय निर्धारित करें।
  2. उत्तेजना बढ़ाने के लिए कामुक वीडियो या पुस्तकों का उपयोग करें।
  3. अपनी कामोत्तेजना को बढ़ने के बारे में जानने के लिए हस्तमैथुन करें।
  4. जो आपको यौन उत्तेजित करता है उसके बारे में कल्पना करें। यदि उचित हो, तो अपने साथी को इन कल्पनाओं के बारे में बताएं।
  5. कामुक मालिश और स्पर्श के अन्य रूपों का उपयोग करें।
  6. नई सेक्स स्थितियों या परिदृश्यों की कोशिश करें।

    Sex-Toys-Repurposed_ijnbuw
    Sex-Toys-Repurposed
  7. सेक्स करने से पहले गर्म स्नान जैसी विश्राम की तकनीक का उपयोग करें।
  8. योनि के सूखापन के कारण उत्तेजना की समस्याओं को दूर करने के लिए योनि लुब्रीकेंट का प्रयोग करें।
  9. कई उत्कृष्ट पुस्तकें बुकस्टोर्स या ऑनलाइन स्रोतों पर यौन और आपसी बातचीत की समस्याओं से निपटने में मदद करने के लिए उपलब्ध हैं। आप इनकी भी मदद ले सकती हैं।
Cervical-dystonia-woman
Cervical-dystonia-woman

6. महिलाओं की यौन समस्याओं की रोकथाम / Prevention of Female Sexual Problems in Hindi:

यौन समस्याओं से बचने या ठीक करने के लिए आप सबसे महत्वपूर्ण काम यह कर सकते हैं कि अपने साथी के साथ खुलकर और ईमानदारी से संवाद करें।

सम्पूर्ण स्वास्थ को बढ़ावा देने के लिए एक स्वस्थ जीवन शैली को अपनाना आपके आत्मविश्वास और आत्म-सम्मान को बढ़ाएगा, जो यौन संबंधों में आपकी रुचि और आपकी प्रतिक्रियाएं को बढ़ाएगा। आप निम्नलिखित सुझाव अपना सकते हैं:

  1. एक स्वस्थ आहार खाएं।
  2. तम्बाकू का प्रयोग न करें।
  3. प्रत्येक दिन कम से कम 30 मिनट के लिए शारीरिक रूप से सक्रिय रहें अर्थात व्यायाम करें।
  4. प्रयाप्त आराम करें।
  5. तनाव नियंत्रण में रखें।
  6. यदि आप शराब पीते हैं, तो कम मात्रा में पिये।
  7. नियमित रूप से सिफारिश की गई स्वास्थ्य जांच जैसे पैप टेस्ट और मेमोग्राम करवाएं।

महिलाओं को होने वाली कुछ यौन समस्याएं इस प्रकार हैं:

सर्वाइकल कैंसर: गर्भाशय ग्रीवा (Cervix) में होने वाला कैंसर या सर्वाइकल कैंसर ह्यूमन पेपिलोमा वायरस (HPV) के कारण होता है। यह धीरे-धीरे बढ़ता है और यह पैप टेस्ट कराने के बाद ही पता चलता है। ह्यूमन पेपिलोमा वायरस (HPV) की रोकथाम के लिए दवा लेने से यह काफी हद तक कम किया जा सकता है।

ब्रेस्ट कैंसर:
इसमें ट्यूमर महिलाओं के स्तन के ऊतकों को प्रभावित करता है। यह कई तरह से घातक हो सकता है, लेकिन समय-समय पर खुद ही इसकी जांच करने पर इसको प्रथम चरण में ही पहचाना जा सकता है और इसका इलाज किया जा सकता है।

महिलाओं और पुरुषों दोनों में ही यह कैंसर हो सकता है, लेकिन महिलाओं में इसके होने की संभावनाएं कहीं अधिक होती है। माना जाता है कि हर 8 में से 1 महिला को ब्रेस्ट कैंसर होने की संभावनाएं होती है।

महिलाओं के यौन स्वास्थ्य की देखभाल से जुड़ी कुछ चिकित्स्कीय क्रियाएं और परिक्षण निचे बताए गए हैं:

1. डूशिंग (Douching):
डूशिंग यानी योनि व गुदा (एनल) को धोना। आपको किसी बाहरी उत्पादनों से योनि को धोने से पहले डॉक्टर से सलाह ले लेनी चाहिए। यह तरीका यौन संचारित संक्रमण का कारण बनता है और यह प्रेग्नेंसी में भी सुरक्षित नहीं होता है।

2. पैप स्मीयर (Pap smear):
इसको पैप टेस्ट के नाम से भी जाना जाता है। इसमें गर्भाशय ग्रीवा (Cervix) से कुछ कोशिकाओं को लिया जाता है, जिससे सर्वाइकल कैंसर व ह्यूमन पेपिलोमा वायरस (HPV) का पता लगाया जाता है। यह टेस्ट महिलाओं के पेल्विक जांच का ही एक हिस्सा है।

Owlet-Band-This-New-Pregnancy-Product-Helps-Expectant-Moms-17703-ff9df25b09-1546974367
Owlet-Band-This-New-Pregnancy-Product-Helps-Expectant-Moms

3. मैमोग्राम (Mammogram):
स्तन कैंसर की पहचान के लिए मैमोग्राम एक जांच प्रक्रिया होती है। इसमें महिलाओं के स्तन का एक्स-रे किया जाता है। जिसमें स्तन पर होने वाली असामान्यताओं व किसी गांठ का पता लगाया जा सकता है। इसके साथ ही इससे स्तन कैंसर (ब्रेस्ट कैंसर) की भी पहचान की जा सकती है।

woman-checking-her-breast-for-early-signs-of-cancer
woman-checking-her-breast-for-early-signs-of-cancer

Note: अधिक जानकारी के लिए आप हमारे यूट्यूब चैनल पर भी विडिओ देख सकते हैं हमारे चैनल का नाम है besthealthtips or whatsapp on us 8620985000

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here