{Safed Musli} सफेद मूसली के फायदे, नुकसान और उपयोग – Safed Musli Benefits, Uses and Side Effects

Safed Musli Benefits, Uses and Side Effects in Hindi

2
849
safed-musli-ke fayde

{Safed Musli} सफेद मूसली के फायदे, नुकसान और उपयोग – Safed Musli Benefits, Uses and Side Effects

Safed Musli:- नमस्कार दोस्तों आज हम बात करने वाले हैं। सफेद मुसली के बारे में दोस्तों इस पोस्ट में हम आपको बताएंगे कि सफेद मूसली किस प्रकार की आयुर्वेदिक औषधि है। कहां पर आपको यह मिलेगी किन किन रोगों में सफेद मूसली  का उपयोग किया जाता है Safed Musli Benefits, और कितनी मात्रा में सफेद मूसली का सेवन करें कि वह हमको ज्यादा से ज्यादा फायदा पहुंचा सके साथ में दोस्तों हम आपको बताएंगे कि सफेद मूसली के नुकसान क्या क्या होते हैं।

दूध के साथ लेना है पानी के साथ लेना है, यानी की पूरी जानकारी आपको इस पोस्ट में सफेद मुसली के बारे में मिल जाएगी तो दोस्तों पोस्ट को लास्ट तक जरूर  पढ़ना ताकि आपको अच्छे से समझ में आ जाए कि हमने आपको बताया क्या है, चलिए शुरू करते हैं।

दोस्तों सफेद मूसली एक जानी-मानी औषधि है। जिसका उपयोग बहुत पुराने समय से आयुर्वेदिक दवाइयों के रूप में किया जाता है। और इसे आयुर्वेद की दुनिया का चमत्कार माना जाता है, क्योंकि यह बहुत सी बीमारियों को ठीक करने में सहायक होती है, लेकिन दोस्तों इसको खाने से पहले आपको जानना जरूरी है की सफेद मूसली खाने की विधि क्या है? और कहां से यह मिलती है, और किन किन बीमारियों में सफेद मूसली का सेवन किया जाता है।

safed-musli ka phoda
safed-musli ka phoda

दोस्तों सफेद मूसली एक पौधा है। और उस पौधे की जो जड़े होती हैं, उनका उपयोग किया जाता है। दवाइयां बनाने में यानी कि वह होती है, “सफेद मूसली”

और इसका उपयोग दोस्तों ज्यादातर अंदरूनी रोग जो होते हैं।  मर्दो के और महिलाओं के अंदरूनी रोग होते हैं, उनका इलाज करने में ज्यादा प्रयोग किया जाता है, जैसे कि शुक्राणुओं की कमी या फिर धातु रोग वगैरा और महिलाओं में जैसे कि मासिक धर्म की अनियमितता बहुत सारी अंदरूनी बीमारियां ठीक करने के लिए सफेद मूसली का सेवन किया जाता है।

 सफेद मूसली में पाए जाने वाले पोषक तत्व:

 सफेद मूसली पौधे की जड़ों में कई प्रकार के पोषक तत्व पाए जाते हैं जैसे:-

  1. कार्बोहाइड्रेट
  2.  प्रोटीन
  3.  सपोनिन
  4.  फाइबर
  5.  कैल्शियम
  6.  पोटेशियम
  7.  मैग्नीशियम आदि

सफेद मूसली शरीर में विभिन्न क्रियाओं के सुचारू रूप से चलने को भी सुनिश्चित करती है, जैसे कि यह खून के Bhane का भी संचालन करती है। इसके अलावा थकान के समय इसे लेने से थकान दूर होती है, और शरीर में तरो ताजगी महसूस होती है और पहले से ज्यादा अच्छा Fresh महसूस करते हैं वह इंसान जो सफेद मूसली का डेली रूटीन में उपयोग करते हैं।

sfed musli ke fayde
sfed musli ke fayde

 सफेद मूसली कैसे खाएं? Safed Musli Benefits, Uses

सफेद मूसली की जड़ों को पीसकर उसका पाउडर बनाया जाता है। यह आप खुद घर पर भी बना सकते हो नहीं तो आपको दुकान से बनी बनाया पाउडर भी मिल जाएगा।

सफेद मूसली को कई तरीकों से खा सकते हैं, वह निर्भर करता है आपकी बीमारी के ऊपर और आपके खान-पान के ऊपर लेकिन हम आपको नॉर्मल ही तरीका बताएंगे जिसका उपयोग सभी आसानी से कर सके जिसका सेवन सभी के सभी लोग आसानी से कर सके।

सफेद मुसली खाने का सही तरीका। Safed Musli Benefits, Uses

यदि आप अपनी सेक्स संबंधी बीमारियों के लिए सफेद मूसली का सेवन कर रहे हैं, तो आप रोजाना सुबह शाम 3:00 से 5 ग्राम सफेद मूसली  खाना खाने के 2 घंटे बाद सेवन करें दूध के साथ या जूस के साथ लेकिन ज्यादा अच्छा रहता है। दूध के साथ कुछ लोग पानी के साथ भी सेवन करते हैं। जिनको दूध से एलर्जी वगैरह होती है लेकिन दूध के साथ लेने पर सफेद मूसली ज्यादा फायदा करती है।

इसके अलावा आप सफेद मुसली के कैप्सूल भी ले सकते हो अगर आप सफेद मुसली के कैप्सूल ले रहे हो तो आप रोजाना सुबह और शाम में एक एक सफेद मुसली का कैप्सूल दूध के साथ ले सकते हैं। लेकिन मैं आपको सलाह दूंगा कि आप सफेद मुसली के पाउडर का ही सेवन करें वह ज्यादा फायदेमंद होता है।

सफेद मूसली खाने के तरीके। Safed Musli Uses

विभिन्न लोगों के लिए सफेद मूसली खाने के तरीके अलग-अलग होते हैं। और नीचे हम आपको बता रहे हैं कि कितनी उम्र के लोगों को कितनी मात्रा में सफेद मूसली का सेवन करना चाहिए।

  1.  छोटे बच्चे                                           एक बार में 1 ग्राम से कम
  2.  13 से 19 साल  की उम्र वाले                         1.5 से 2 ग्राम 
  3.  जवान 19 से 7 साल की उम्र वाले                     3 से 6 ग्राम
  4.   बुजुर्ग  60 साल से ज्यादा की उम्र वाले               2 से 3 ग्राम
  5.  दूध पिलाने वाली मां                                      1 से 2 ग्राम
  6.  गर्भ अवस्था में                                             1 से 2 ग्राम
  7.  अधिकतम खुराक                            12 ग्राम { तीन से चार बार में सेवन कर सकते हैं }

यदि सफेद मूसली लेते समय आपको भूख लगनी कम हो जाती है तो उस हिसाब से सफेद मूसली का सेवन थोड़ा कम कर दें।

कई लोग इसे जड़ी बूटी के रूप में खाना पसंद करते हैं। कई लोग इसे मिठाई के रूप में खाना पसंद करते हैं, जिसको हम मूसली पाक भी बोल देते हैं। इतना ही असर मूसली पाक का भी होता है लेकिन उसका स्वाद थोड़ा अलग होता है इसलिए आप मूसली पाक का भी इतनी ही मात्रा में सेवन कर सकते हैं।

सफेद-मुसली-के-फायदे
सफेद-मुसली-के-फायदे

 सफेद मूसली के फायदे। Safed Musli Benefits

  1.  सफेद मूसली का सेवन करने से थकान और कमजोरी दूर हो जाती है।
  2.  सफेद मूसली शक्कर के साथ लेने से शरीर में ताकत आती है और कमजोरी दूर भागती है।
  3.  सफेद मूसली का सेवन वजन बढ़ाने में सहायक है।
  4.  सफेद मूसली से पुरुषों के शुक्राणुओं में वृद्धि होती है, और टेस्टोस्टरॉन हार्मोन की मात्रा को बढ़ाती है।
  5.  सफेद मूसली से धातु रोग समाप्त होता है।
  6.   सफेद मूसली के सेवन से महिलाओं के प्रदर रोग में काफी लाभ मिलता है।
  7.  सफेद मूसली शुगर की बीमारी को भी ठीक करने में सहायक है।
  8.  सफेद मूसली का सेवन करने से मां का दूध बढ़ता है।
  9.  सफेद मूसली से जोड़ों का दर्द भी ठीक होता है।

दोस्तों अब जान लीजिए सफेद मूसली के नुकसान क्या क्या होते हैं। अगर गलत तरीके से खाने में सफेद मूसली का उपयोग किया जाए तो। 

सफेद के नुकसान। Safed Musli Uses and Side Effects in Hindi

वैसे तो दोस्तों सफेद मुसली खाने के कोई नुकसान नहीं है, लेकिन अगर कोई सफेद मूसली गलत तरीके से खाता है। ज्यादा या कम खाता है, गलत चीज के साथ सफेद मूसली का सेवन करता है और गलत समय पर सफेद मूसली का सेवन करता है तो नुकसान भी हो सकते हैं नुकसान क्या है नीचे जान लीजिए।

  1.  पेट संबंधी बीमारियां हो सकती हैं जैसे गैस बनना आदि।
  2.  कब्ज की समस्या हो सकती है अगर ज्यादा सफेद मूसली का सेवन करते हैं तो।
  3.   ज्यादा सफेद मूसली के सेवन से बेचैनी और शरीर में ज्यादा गर्मी बन सकती है।
  4.  अगर बच्चों को ज्यादा मात्रा में सफेद मूसली का सेवन करवाया जाए तो नकसीर की बीमारी हो सकती है।

इसके अलावा दोस्तों ज्यादा नुकसान नहीं होते सफेद मूसली के अगर आप खानपान में सावधानी बरते हो और अच्छी मात्रा में सफेद मूसली का खाने में सेवन करते हो जैसा कि हमने आपको इस पोस्ट में बताया है, तो आपको बहुत सारे फायदे मिलने वाले हैं।

सफेद मूसली कहां से लें। Safed Musli  Uses and Side Effects in Hindi

दोस्तों सफेद मूसली आपको पंसारी की दुकान पर भी मिल जाएगी जहां से आप रसोई घर का सामान खरीदते हो या फिर सफेद मूसली को आप अमेजॉन से ऑनलाइन मंगवा सकते हो अगर आपको सफेद मूसली के पौधे की पहचान है।

या फिर खेत वगैरह में आपने सफेद मूसली का पौधा उग आया है। तो आप खुद उसकी जड़ को सुखाकर पीसकर सफेद मूसली का बिल्कुल शुद्ध पाउडर बना सकते हो और उसका सेवन कर सकते हो नहीं तो आपको बाजार से मिल जाएगा सफेद मूसली का पाउडर और पतंजलि  की दुकान ओर से भी आपको सफेद मूसली का पाउडर आसानी से मिल जाएगा जो कि काफी सुधार होता है।

तो दोस्तों कैसी लगी आपको यह पोस्ट मुझे नीचे कमेंट करके जरूर बताइएगा और इस पोस्ट को ज्यादा से ज्यादा शेयर जरूर कीजिएगा ताकि ज्यादा से ज्यादा लोगों तक यह बहुत आसानी से पहुंच जाएं  और सभी को पता लगे सफेद मुसली के बारे में कि कैसे सफेद मूसली का सेवन करना है, किस तरह की सफेद मूसली होती है, किस चीज के साथ सफेद मूसली का सेवन करना है, और किन-किन बीमारियों को सफेद मूसली ठीक करती है। धन्यवाद।

2 COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here